Description

बॉम्बे हाई कोर्ट ने उद्धव ठाकरे को दादर के शिवाजी पार्क (SHIVAJI PARK SHIV SENA DUSSEHRA RALLY ) में दशहरा रैली की इजाजत दे दी है। इसके साथ ही कोर्ट ने उद्धव ठाकरे के आवेदन को रद्द करने के लिए बीएमसी को भी फटकारा।

शिवाजी पार्क में शिवसेना (SHIV SENA) और शिंदे समूह की दशहरा सभा को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट ( BOMBAY HIGH COURT) में तीखी बहस हुई। इस सुनवाई में शिवसेना ने शिंदे समूह की याचिका खारिज करने की मांग करते हुए दावा किया कि शिवसेना ने मैदान की मांग के लिए पहली याचिका दायर की थी।

इस मामले में सबसे पहले कोर्ट में आवेदन किसने किया था? BMC ने स्पष्ट किया कि शिवसेना के ठाकरे और शिंदे दोनों गुटों को मैदान में उतरने का कोई अधिकार नहीं है। मुंबई नगर निगम की ओर से मिलिंद साठे ने दलील दी। इस बार उन्होंनेन्हों पुरा ने नतीजों का सबूत दिया। किसी भी समूह को जमीन हासिल करने का अधिकार नहीं है। इस जगह को चाहने के अधिकार का प्रयोग कोई नहीं कर सकता। दशहरा सभा एक परंपरा है, लेकिन अधिकार नहीं।

दोनों गुट शिवाजी पार्क मैदान में दशहरा सभा आयोजित करने पर जोर दे रहे हैं। शिवसेना ने इस मामले में बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। शिवसेना ने पिछले 28 साल से मुंबई नगर निगम पर राज किया, वही नगर प्रशासन ने शिवसेना के उद्धव ठाकरे और शिंदे समूह को शिवाजी पार्क मैदान से वंचित कर दिया। नगर पालिका के जी-नॉर्थ डिवीजन ने दोनों समूहों को एक पत्र भेजा था जिसमें कहा गया था कि पुलिस का मानना था कि दशहरा सभा गंभीर कानून व्यवस्था की समस्या पैदा कर सकती है।

https://www.mumbailive.com/hi/politics/uddhav-thackeray-gets-permission-for-dussehra-rally-at-shivaji-park-allowed-by-bombay-high-court-75266

 

 

Copyright © 2022, All Rights Reserved

Back to Top